जवाहर नवोदय सरोल में सात दिवसीय राष्ट्रीय सेवा योजना शिविर आयोजित

जवाहर नवोदय सरोल में सात दिवसीय राष्ट्रीय सेवा योजना शिविर आयोजित

जवाहर नवोदय सरोल में सात दिवसीय राष्ट्रीय सेवा योजना शिविर आयोजित

डलहौज़ी हलचल (चंबा) :  जवाहर नवोदय विद्यालय सरोल में सात दिवसीय राष्ट्रीय सेवा योजना शिविर आयोजित किया गया । शिविर का आयोजन 18 नवंबर से 24 नवंबर तक किया गया। जवाहर नवोदय विद्यालय सरोल के प्राचार्य देवेश नारायण ने बताया कि शिविर में प्रतिदिन स्वयं सेवी बच्चों ने स्वच्छता अभियान के अंतर्गत स्वयं सफाई करते हुए स्वच्छता के प्रति लोगों को जागरूक किया।

प्राचार्य ने बच्चों का मार्गदर्शन करते हुए कहा कि सामाजिक कल्याण में अपनी महत्वपूर्ण सेवाएं हमेशा देते रहे । बच्चों में राष्ट्र के प्रति सेवा की भावना सदैव बनी रहनी चाहिए। उन्होंने बताया कि 7 दिवसीय शिविर में विशेष रूप से शिक्षा के अधिकार, नशा मुक्ति के प्रति जागरूकता, बाल श्रम एवं धूम्रपान निषेध आदि के प्रति विस्तारपूर्वक चर्चा की गई तथा इन बुराइयों से समाज को सचेत करने की बात कही गई। शिविर की कड़ी में 22 नवंबर को पोस्टर मेकिंग के माध्यम से एंटी रैगिंग के नियमों के प्रति जागरूक किया गया।

उप प्राचार्य विनोद त्रिपाठी ने अपने संबोधन में राष्ट्रीय सेवा योजना के महत्व के बारे में बच्चों को अवगत करवाया । राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) प्रभारी अनु बाला एवं कुलभूषण ने शिविर के दौरान बच्चों को समाज में बदलते परिवेश और आधुनिक जीवन में हम सब के योगदान का महत्व व समाज में बढ़ती मेरी भावनाओं के प्रति सचेत रहने का भी संदेश दिया। । उन्होंने बताया कि हमारा समाज सहयोग और प्रेम की भावना से मिलजुल कर रहें।

शिविर समापन समारोह में मेडिकल कॉलेज चंबा के डॉ करण हितेषी ने एनएसएस कैंप के बच्चों को बढ़ते हुए अपराधों तथा मानसिक स्वास्थ्य के प्रति जागरूक किया। उन्होंने कहा कि बच्चों को मानसिक शारीरिक तथा बौद्धिक रूप से स्वस्थ रहते हुए समाज को भी जागरूक करना चाहिए।

रविंद्र कुमार ने बच्चों को शिक्षा के मूल्यों जिसमें सच्चाई, शांति, अहिंसा, प्रेम, भाईचारा आदि की भावना को जन-जन तक पहुंचाने की बात कही । उन्होंने कहा कि हमें अपने समाज को सभ्य सुसंस्कृत राष्ट्रभक्त जैसे गुणों से युक्त बनाना है।

भारत भूषण संगीत शिक्षक तथा कमलेश टीजीटी हिंदी द्वारा तैयार करवाया गया रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम एव नृत्य भी बच्चों द्वारा इस अवसर पर प्रस्तुत किया गया ।