राज्य दवा नियंत्रक प्राधिकरण ने बद्दी से पकड़ा नकली दवाओं का जखीरा, तीन काबू

राज्य दवा नियंत्रक प्राधिकरण ने बद्दी से पकड़ा नकली दवाओं का जखीरा, तीन काबू

राज्य दवा नियंत्रक प्राधिकरण ने बद्दी से पकड़ा नकली दवाओं का जखीरा, तीन काबू

डलहौज़ी हलचल (सोलन) : देश के नामी दवाओं कंपनियों के नाम पर नकली दवा बनाकर बेचने का भंडाफोड़ उस समय हुआ जब एक क्रेटा गाड़ी को बद्दी नाका पर तैनात पुलिस और ड्रग्स विभाग के कर्मियों ने इसकी जांच की। जब नाका पर तैनात पुलिसकर्मियों और ड्रग्स विभाग ने चैकिंग की तो उसमें देश के नामी कंपनियों जैसे सिपला अन्य कई कंपनियों के नाम पर नकली दवाएं पाई गई।

पकडे गए आरोपी की पहचान मोहित बंसल पुत्र विनोद बंसल निवासी आगरा के रूप में हुई है जो नामी कंपनियों के नाम पर बद्दी में दवा बनाकर बेचने का काम करता था। मुख्य आरोपी के साथ दो अन्य लोगों को भी पकड़ा है। पूछताछ में खुलासा हुआ कि आरोपियों का आगरा में मेडिकल स्टोर भी है, जहां पर इन दवाओं को बेचा जाता था। मंगलवार सुबह बद्दी बैरियर पर ड्रग विभाग की टीम ने यूपी नंबर की क्रेटा कार को पकड़ा जिसमें नकली दवाइयां ले जाई जा रही थीं। राज्य दवा नियंत्रक नवनीत मारवाह की अगुवाई में बनी टीम आरोपियों को दवा कंपनी के बारे में पूछताछ कर रही है। विभाग ने पुलिस की मदद से तीन लोगों को हिरासत में लिया है।

ड्रग विभाग ने कार से नकली दवा व आरोपियों को हिरासत में लिया जिनकी निशानदेही पर बरोटीवाला मार्ग सिक्का होटल के समीप से गोदाम भी बरामद किया है जिसमें लाखों की दवाइयां बरामद की गईं। यूएसबी कंपनी की कोलेस्ट्रोल कम करने की रोजोडे-10 दवा, सिपला कंपनी की कोरोना वायरस में गले में एलर्जी की दवा मांटेयर-10 तथा इफका लैब कंपनी की दर्द निवारक दवा जीरोडोल भी शामिल है।

राज्य दवा नियंत्रक नवनीत मरवाह ने बताया कि उन्होंने यूपी नंबर की एक गाड़ी से नकली दवाई पकडऩे के बाद एक गोदाम पर भी दबिश दी है जिसमें लाखों की दवा बरामद की है। विभाग पकड़ी गई दवाओं की गिनती करा रहा है। विभाग ने तीन लोगों को हिरासत में लिया है। दवाई को सीज करने के बाद तीनों के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा।