बहु आयामी गतिविधियों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली छात्राएं सम्मानित

बहु आयामी गतिविधियों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली छात्राएं सम्मानित

बहु आयामी गतिविधियों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली  छात्राएं  सम्मानित

डलहौज़ी हलचल (चंबा) : उपायुक्त डीसी राणा ने बेटी बचाओ -बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत बेटी "बचाओ- बेटी पढ़ाओ" सप्ताह के  समापन अवसर पर आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए शिक्षा, खेलकूद और बहु आयामी गतिविधियों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली 19 छात्राओं को सम्मानित किया 

इस दौरान डीसी राणा ने  राष्ट्रीय बालिका दिवस  अवसर पर  "एक बूटा बेटी के नाम" कार्यक्रम के अंतर्गत उपायुक्त  कार्यालय परिसर में   फलदार पौधा भी  रोपित किया ।

उन्होंने कहा कि बेटियों के प्रति  समाज में सकारात्मकता लाने के उद्देश्य से  18 से 24 जनवरी  तक   ब्लाकग्राम पंचायत, आंगनवाडी केन्द्र स्तर पर "बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ" की थीम पर  विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया गया।

उन्होंने  बताया कि "बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ" कार्यक्रम के अंतर्गत जिला में विभिन्न गतिविधियों के साथ  राष्ट्रीय बालिका दिवस पर बेटियों के जन्म को प्रोत्साहन देने व बेटियों के महत्व के प्रति समाज में जागरूकता  लाने के उदेश्य से महिला एवम बाल विकास विभाग द्वारा "बेटी बचाओ-बेटी पढाओ" सप्ताह का आयोजन 18 से 24 जनवरी 2023 को किया गया।

उन्होंने कहा की 18 जनवरी  संकल्प एवम शपथ ग्रहण समारोह के आयोजन के साथ किया गया जिसमे विभिन्न विभागों जैसे पुलिस, स्वास्थ्य, पंचायत से सबंधित महिला कर्मचारियों व आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने अपनी भागीदारी को सुनिश्चित किया। इसके साथ ही शपथ ग्रहण समारोह में आये लोगों द्वारा हस्ताक्षर अभियान द्वारा अपनी उपस्तिथि दर्ज भी करवाई गई ।

इसके साथ 19 जनवरी को जिला पंचायत अधिकारी के समन्वय से विशेष महिला ग्राम सभा का आयोजन  विकास खंड मैहला की ग्राम पंचायत  करियां में किया गया। इसमें महिलाओं को बेटियों के जन्म और उनकी शिक्षा के महत्व व बेटियों की सुरक्षा एवं कौशल विकास के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। इसके अतिरिक्त विभिन्न शिक्षण संस्थानों में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा विशेष स्टीकर लगा कर  बच्चों को भी इस अभियान के प्रति जागरूक  किया गया । 

उन्होंने बताया की साप्ताहिक कार्यक्रम के तीसरे दिन 20 जनवरी को विभिन्न शिक्षण संस्थानों में "बेटी बचाओ -बेटी पढाओ" अभियान के अंतर्गत नारा लेखन, चित्रकला प्रतियोगिता इत्यादि का आयोजन किया गया। "बेटी बचाओ-बेटी पढाओ" सप्ताह के चौथे दिन 23 जनवरी को स्वास्थ्य एवं पोषण, पीसी और पीएनडीटी अधिनियम व घरेलू हिंसा, बाल विवाह रोकने पर ग्राम पंचायत स्तर पर शिविर के  माध्यम से जानकारी  प्रदान की गई । 

राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर इस सप्ताहिक कार्यक्रम के अंतिम दिन वन विभाग के समन्वय से समस्त जिले में "एक बूटा बेटी के नाम" कड़ी के अंतर्गत जिले में जिन घरों में बेटी पैदा हुई  उनके आँगन में एक  पौधा रोपित किया गया ।  इसके साथ  शिक्षा, खेल, नृत्य  प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली बेटियों को सम्मानित भी किया गया । 

इस  अवसर पर जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास राकेश चौधरी भी उपस्थित रहे।