Movie prime
61 लाख की लागत से दरीणी में उप तहसील का शिलान्यास
 
डलहौज़ी हलचल (धर्मशाला)  : दरीणी में उप तहसील पर  61 लाख  रुपये व्यय होंगे तथा  राजकीय महाविद्यालय रिडकमार में शुभारंभ करके  कक्षाएं शुरू कर दी गयी हैं । सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री सरवीण चौधरी आज रिडकमार में  61 लाख की लागत से  उपतहसील का शिलान्यास व  राजकीय महाविद्यालय के शुभारंभ   तथा राजकीय माध्यमिक पाठशाला पारितोषक  वितरण समारोह करने के उपरांत  बोल रही थीं।

     उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रेदश के अस्तित्व में आने से लेकर अब तक प्रदेश में शिक्षा क्षेत्र में महत्वपूर्ण प्रगति हुई है। प्रदेश साक्षरता दर से देश में दूसरे स्थान पर हैं। प्रदेश में 1878 राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाएँ, 931 राजकीय उच्च पाठशालाएँ, 131 राजकीय डिग्री महाविद्यालय, एक ललित कला महाविद्यालय, 8 राजकीय संस्कृत महाविद्यालय, एक एससीईआरटी तथा एक राजकीय शिक्षक शिक्षा महाविद्यालय माध्यमिक तथा उच्च शिक्षा क्षेत्र में क्रियाशील हैं । उन्होंने कहा कि पिछले 4 वर्षों में 52 राजकीय माध्यमिक पाठशालाओं को राजकीय उच्च पाठशालाओं तथा राजकीय उच्च पाठशालाओं को राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाओं में स्तरोन्नत किया गया।

    सरवीन ने कहा कि युवा-विद्यार्थी स्वामी दयानंद सरस्वती की परम्पराओं को आगे बढ़ाने का कार्य करें। विद्यालयों की भूमिका पर बोलते हुए सरवीन चौधरी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बताए गये प्रकल्पों पर विद्यालय गम्भीरता से कार्य करें। उन्होंने कहा कि विद्यालय शिक्षकों और विद्यार्थियों के समूह बना कर स्वच्छता, प्लास्टिक मुक्त भारत और पर्यावरण संरक्षण जैसे विषयों पर कार्य करें।

   सरवीण  ने अपने सम्बोधन में  कहा कि  वर्तमान सरकार के कार्यकाल में शाहपुर निर्वाचन क्षेत्र के समग्र विकास पर करोड़ों रूपये की राशि व्यय की जा रही है और यह विधानसभा क्षेत्र प्रदेश में एक विकास का आदर्श मॉडल के रूप में उभर रहा हैे। उन्होने कहा कि प्रदेश सरकार समाज के निर्धन एवं जरूरतमंद लोगों के सामाजिक एंव आर्थिक विकास के लिए कृतसंकल्प है तथा इस वर्ग की निर्धन बेटियों के विवाह के लिए प्रदेश सरकार द्वारा शगुन नामक योजना आरंभ की गई है। जिसके तहत गरीब परिवार की बेटी के विवाह के लिए 31 हजार की राशि अनुदान के रूप में प्रदान की जाती है। उन्होंने कहा कि इस योजना पर चालू वित वर्ष  के दौरान 50 करोड़ की राशि व्यय की जा रही है। 

    इस अवसर पर स्कूल के प्रधानाचार्य नरेन्द्र कुमार  ने मुख्यतिथि का स्वागत किया और वार्षिक गतिविधियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

    इस दौरान स्कूल के बच्चों ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये। उन्होंने सांस्कृतिक कार्यक्रमों को बढ़ावा देने के लिए बच्चों को  11  हजार रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाले बच्चों को सम्मानित भी किया।

     सरवीण  चौधरी ने बताया कि रिडकमार से घटारना सड़क पर 164 लाख , दरीणी में जूनियर इंजीनियर  आफिस व आवासीय   पर 30 लाख, मौरछ से  घड़गुई सड़क पर 272 लाख , शाहपुर दरीणी सड़क के सुधारीकरण व टारिंग पर 50 लाखहैल्थ सब सेन्टर  भलेड  30  लाख, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत भलेड से दुल्ली काकरा चमियारा  सड़क 495 लाख , नाबार्ड के अंतर्गत  संपर्क मार्ग घेरा सुक्कुघाट  पर 1560 लाख तथा जी एस एस स्कूल दरीणी  में साइंस  कुठारना से करेरी की सड़क टारिंग पर 50 लाख पर 110 लाख रुपये व्यय किये जा रहे हैं ।कुठारना से करेरी की सड़क टारिंग पर 50 लाख , सल्ली से कुठारना कि टारिंग पर 25 लाख, तथा  हैल्थ सब सेन्टर लाहड़ी व भलेड  30 लाख रुपये व्यय किये गए ।

सरवीण  चौधरी ने स्कूल में स्टेज बनाने के लिए 2  लाख 50 हज़ार देने की घोषणा की  ।

 

    इस अवसर पर  एस डी एम डॉक्टर मोरारी लाल , एस डी ओ लोकनिवि बलबीतशिक्षक संघ के प्रांत अध्यक्ष पवन कुमार , पूर्व बीडीसी चेयरमैन अश्विनी चौधरी , महामंत्री अमरीश परमार प्रधानाचार्य रिडकमार नरेंद्र कुमार , प्रधानाचार्य शाहपुर अनिल महाजन प्रधान  रिडकमार शमा महाजन, विभिन्न स्कूलों के प्रधानाचार्य, स्थानीय पंचायत प्रतिनिधी, विभिन्न विभागों से आए अधिकारी व कर्मचारी, स्कूली बच्चे, बच्चों के अभिवावक व स्थानीय लोग उपस्थित रहे।