Movie prime
अर्जुन अवार्डी कैप्टन बी एस थापा का ह्रदय गति रुकने से दुखद निधन
अर्जुन अवार्डी  कैप्टन बी एस थापा का ह्रदय गति रुकने से दुखद निधन
 

डलहौज़ी हलचल (ककीरा) भूषण गुरंग  : चम्बा जिला के भटियात क्षेत्र से सम्बन्ध रखने वाले  चिलामा पंचायत के भरमला गॉव निवासी रिटायर्ड कैप्टन बी एस थापा (अर्जुन अवार्डी) का शिलांग (मेघालय) में ह्रदय गति रुकने से आकस्मिक निधन हो गया। उनके निधन का समाचार मिलते ही पूरे बकलोह और ककीरा क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई।

रिटायर्ड कैप्टन बी एस थापा (अर्जुन अवार्डी)  अपने देश और अपनी यूनिट 5/8 जी आर के लिए बॉक्सिंग में एशियाड, और कॉमन वेल्थ गेम मे गोल्ड मेडल प्राप्त कर के पुरे देश का नाम रोशन कर चुके है । 1980 में उन्होंने मास्को ओलंपिक में भी देश का प्रतिनिधित्व  किया। 1983 में ही उनको विशिष्ट सेवा मैडल से नवाजा गया। इस के अलावा उन्होंने बॉक्सिंग में उन्होंने देश के लिए कई मैडल हासिल किये जिसके लिए भारत सरकार द्वारा उन्हें 1979 में  अर्जुन अवार्ड से नवाजा गया।

बताया जा रहा है कि कुछ दिन पहले ही वे अपनी पत्नी वीना थापा के साथ शिलांग (मेघालय) में उनके सेंटर में आयोजित पुनर्मिलन भोज में भाग लेने गये थे। कल वापसी पर जब वो शिलांग से गोवहाटी आ रहे थे तो रेलवे स्टेशन में शाम के करीब साढ़े बजे के करीब उनका ह्रदयगति रुकने के कारण वेटिंग रूम मे ही निधन हो गया। 

उसके बाद सेंटर के लोग ने गोवहाटी आकर उनके पार्थिव शरीर को सेंटर पहुंचाया और उनके परिजनों को सूचित किया । उनके निधन का समाचार मिलते ही उनके गाँव भरमला में शोक की लहर दौड़ गई और उनके परिजन शिलांग की और कुच कर गए । कल पूरे राष्ट्रीय सम्मान के साथ उनके  सेंटर 58 गोरखा ट्रेनिंग सेंटर शिलांग में उनका अंतिम संस्कार किया जायेगा।

वहीँ पूर्व सैनिक लीग के अध्यक्ष कैप्टन पूर्ण सिंह थापा की अगुवाई में अर्जुन अवार्डी  कैप्टन बी एस थापा को वीरनारियों औऱ लीग के समस्त सदस्यों द्वारा  2 मिनट का मौन रख कर श्रधान्जली अर्पित की गई ।