Movie prime
उपायुक्त ने किया पोषण माह एवं मातृ वन्दना सप्ताह का शुभारम्भ
 

डलहौज़ी हलचल (सोलन) अमरप्रीत सिंह : उपायुक्त सोलन कृतिका कुल्हरी ने कहा कि स्वस्थ समाज के निर्माण के लिए आवश्यक है कि हम सभी उचित दिनचर्या का पालन करें और संतुलित आहार ग्रहण करें। कृतिका कुल्हरी आज यहां पोषण माह एवं मातृ वन्दना सप्ताह के शुभारम्भ के अवसर पर उपस्थित महिलाओं को सम्बोधित कर रहीं थीं।

कृतिका कुल्हरी ने कहा कि सभी को पोषण की मूल अवधारणा से अवगत करवाने तथा लक्षित वर्गों को जागरूक बनाने के उद्देश्य से सितम्बर माह को पोषण माह के रूप में आयोजित किया जाता है। उन्होंने कहा कि पोषण माह में राष्ट्रीय पोषण मिशन के लक्ष्यों को पूर्ण करने पर विशेष बल दिया जाता है। इस अभियान का मूल उद्देश्य किशोर-किशोरी, गर्भवती एवं धात्री महिलाओं को उचित पोषण के विषय में जागरूक बनाना तथा उन्हें सही पोषण उपलब्ध करवाना है।

उन्होंने कहा कि पोषण माह का वास्तविक लाभ तभी प्राप्त हो सकता है जब ऐसे कार्यक्रमांे में पुरूषों को भी बराबर का भागीदार बनाया जाए। उन्होंने कहा कि पुरूष और महिला मिलकर एक स्वस्थ समाज की परिकल्पना को साकार कर सकते हैं। 

उपायुक्त ने कहा कि कोविड-19 महामारी सहित रोगों से बचाव के लिए शारीरिक प्रतिरक्षा तन्त्र को मज़बूत बनाना आवश्यक है। इसके लिए ज़रूरी है कि संतुलित एवं पौष्टिक आहार सभी के जीवन का अभिन्न हिस्सा बने ताकि शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को सुदढ़ कर इस महामारी के खतरे से बचा जा सके।

कृतिका कुल्हरी ने कहा कि राष्ट्रीय पोषण माह के सफल क्रियान्वयन के लिए जनसहभागिता आवश्यक है। जन प्र्रतिनिधियों, पंचायत प्रतिनिधियों, विद्यालय प्रबंधन समितियों, सरकारी विभागों, सामाजिक सगंठनों तथा समस्त सार्वजनिक एवं निजी क्षेत्र की समावेशी भागीदारी से पोषण माह अभियान को सफल बनाया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि कुपोषण के अभिशाप को पूर्ण रूप से समाप्त करने के लिए इस वर्ष पोषण माह को ईटिंग स्मार्ट राईट फ्राॅम द स्टार्टके रूप में आयोजित किया जा रहा है। इसका उद्देश्य सोलन जिला के सभी निवासियों को पोषण के महत्व से अवगत करवाना है।

उपायुक्त ने कहा कि हम सभी को लड़का-लड़की में भेदभाव न करते हुए दोनों को आगे बढ़ने के समान अवसर प्रदान करने चाहिएं। उन्होंने कहा कि भावी पीढ़ियों को हमें ऐसा समाज प्रदान करना है जिसमें लिंग भेद के लिए कोई स्थान न हो। उन्होंने कहा कि भारतीय सनातन संस्कृति ने सदैव समानता के अधिकार को पल्लवित किया है। इस दिशा में महिलाओं को अपने अधिकारों के प्रति सजग रहने की आवश्यकता है।

कृतिका कुल्हरी ने इस अवसर पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं एवं सहायिकाओं द्वारा लगाई गई पोषाहार प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया।

उपायुक्त ने इस अवसर पर आयोजित नारा लेखन एवं संतुलित आहार प्रतियोगिता के प्रतिभागियों को सम्मानित भी किया। 

इससे पूर्व उपमण्डलाधिकारी सोलन अजय कुमार यादव ने पोषण माह एवं मातृ वन्दना सप्ताह पर आयोजित जागरूकता रैली को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। यह रैली पुराने उपायुक्त कार्यालय से विश्राम गृह तक निकाली गई।

इस अवसर पर आयुवेर्दिक चिकित्सक डाॅ. आशा मंधानिया ने आयुर्वेद का स्वास्थ्य एवं पोषण में महत्व तथा सीडीपीओ सोलन डाॅ. पदम देव शर्मा ने कोरोना संक्रमण में पोषण के महत्व पर प्रकाश डाला।

जिला कार्यक्रम अधिकारी सुरेन्द्र तेगटा ने मुख्यातिथि का स्वागत किया तथा कार्यशाला के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी प्रदान की।

इस अवसर पर मनोनीत पार्षद शकुंतला शर्मा, आयुर्वेदिक चिकित्क डाॅ. आशा मंधानिया, सीडीपीओ कण्डाघाट पवन गुप्ता, सीडीपीओ सोलन डाॅ. पदम देव शर्मा, सीडीपीओ धर्मपुर वीना कश्यप, विभिन्न आंगनबाड़ी केन्द्रों के पर्यवेक्षक, कार्यकर्ता एवं सहायिकाओं सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।