कांगड़ा जिले में दो दिन में 1740 वोटरों ने किया घर से मतदान, डीसी ने मतदाताओं के घर जाकर खुद जांची व्यवस्था

कांगड़ा जिले में दो दिन में 1740 वोटरों ने किया घर से मतदान, डीसी ने मतदाताओं के घर जाकर खुद जांची व्यवस्था

कांगड़ा जिले में दो दिन में 1740 वोटरों ने किया घर से मतदान, डीसी ने मतदाताओं के घर जाकर खुद जांची व्यवस्था
कांगड़ा जिले में दो दिन में 1740 वोटरों ने किया घर से मतदान, डीसी ने मतदाताओं के घर जाकर खुद जांची व्यवस्था

डलहौज़ी हलचल (धर्मशाला) : कांगड़ा जिले में मोबाइल पोलिंग टीमों ने बीते दो दिनों में 1740 वोटरों से मतदान कराया है। इस मुहिम में पहली और दो नवंबर को 80 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के 1431 और 309 दिव्यांग वोटरों ने अब तक मतदान किया है। जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त डॉ. निपुण जिंदल ने कहा कि भारतीय चुनाव आयोग के निर्देशानुसार जिले में अपने घर से ही अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने का विकल्प चुनने वाले 80 वर्ष से अधिक आयु वर्ग और दिव्यांग मतदाताओं से मतदान कराया जा रहा है। इस कार्य के लिए जिले में 122 मोबाइल पोलिंग टीमें गठित की गई हैं । ये टीमें मतदाताओं के घर जाकर पूरी गोपनीयता के साथ मतदान प्रक्रिया पूर्ण करा रही हैं।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि प्रत्येक मोबाइल टीम में सुरक्षा कर्मी सहित 5 कर्मचारी शामिल हैं।  इनमें 2 मतदान अधिकारी, एक माइक्रो ऑब्जर्वर, एक सुरक्षा कर्मी और एक वीडियोग्राफर शामिल है।

डीसी ने खुद जांची व्यवस्था, कहा...घर से मतदान को लेकर बरती जा रही पूरी गोपनीयता

जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. निपुण जिंदल ने खुद गुरुवार को धर्मशाला के सिविल लाइन्स में औचक रूप से कुछ बुजुर्ग मतदाताओं के घर जाकर मतदान प्रक्रिया की पूरी व्यवस्था जांची। उन्होंने कहा कि प्रशासन मतदाताओं के लिए आसान वोटिंग सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है। चुनाव आयोग के दिशा-निर्देशानुसार घर से मतदान को लेकर पूरी गोपनीयता बरती जा रहा है। मोबाइल पोलिंग टीमों की मतदान कराने की पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी कराई जा रही है।

उल्लेखनीय है कि कांगड़ा जिले में कुल 7 हजार 19 मतदाताओं ने घर से मतदान का विकल्प चुना है। इनमें 80 वर्ष से अधिक आयु के 5 हजार 606 मतदाता और 1413 दिव्यांग मतदाता शामिल हैं।