Movie prime
राहुल थापा सेना में बने लेफ्टिनेंट, दादा और पिता भी दे चुके है सेना में सेवायें
 

डलहौज़ी हलचल (ककीरा) भूषण गुरंग : भटियात क्षेत्र के कुमलाड़ी गांव निवासी राहुल थापा सेना में लेफ्टिनेंट बने हैं। मध्यमवर्गीय परिवार से ताल्लुक रखने वाले राहुल ने नर्सरी से छठी कक्षा तक की पढ़ाई आर्मी स्कूल बकलोह से की। सातवीं से 12वीं तक की पढ़ाई केंद्रीय विद्यालय बकलोह से करने के बाद डीएवी बनीखेत से प्रथम वर्ष की पढ़ाई के दौरान ही वह फौज में भर्ती हो गए। बनारस के 13 गोरखा ट्रेनिग सेंटर में एक साल का प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद वह अपनी यूनिट में चले गए। उन्होंने एसीसी का कमीशन पास कर लिया तथा वर्ष 2016 में प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए आइएमए देहरादून चले गए। पांच साल के प्रशिक्षण के बाद उन्हें शनिवार को लेफ्टिनेंट की उपाधि से नवाजा गया।

राहुल थापा सेना में बने लेफ्टिनेंट, दादा और पिता भी दे चुके है सेना में सेवायें

इस कार्यक्रम में माता ज्योति थापा, पिता धीरन थापा व बहन जोत्सना थापा भी शामिल होना चाहते थे लेकिन कोरोना के कारण उन्हें वहां जाने की अनुमति नहीं मिली। स्वजनों ने कहा कि उन्होंने पासिंग आउट परेड टेलीविजन पर देखी। राहुल के दादा व पिता सेना से सेवानिवृत्त हुए हैं। स्वजनों ने कहा कि उन्हें बेटे राहुल थापा पर गर्व है।


राहुल थापा सेना में बने लेफ्टिनेंट, दादा और पिता भी दे चुके है सेना में सेवायें