Movie prime
विकास के मास्टर प्लान से और मनभावन बनेगा मंडी शहर
निखरेगी शहर की सूरत, विकास के खाके पर चर्चा के लिए डीसी ने की नगर निगम महापौर, उपमहापौर और पार्षदों के साथ बैठक
 
डलहौज़ी हलचल (मंडी) :  विकास का मास्टर प्लान बना कर मंडी शहर की सूरत निखारने की कवायद तेज हो गई है। शहर के विकास के खाके पर चर्चा को लेकर डीसी अरिंदम चौधरी ने शुक्रवार को नगर निगम मंडी की महापौर, उपमहापौर और पार्षदों के साथ बैठक की।

अरिंदम चौधरी ने नगर निगम के सभी जनप्रतिनिधयों से मंडी शहर में वर्तमान की आवश्यकताओं के साथ साथ भविष्य की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए आगे बढ़ने का आग्रह किया। उन्होंने शहरी सड़क अधोसंरचना सुधार के कार्यों पर भी चर्चा की।

डीसी ने कहा कि मास्टर प्लान के अमलीजामा से मंडी शहर विकास के नजरिये से एक आदर्श शहर के रूप में विकसित होगा। मास्टर प्लान का प्राथमिक ड्राफ्ट बना लिया गया है। सभी के सुझावों को शामिल करके इसे और परिष्कृत किया जाएगा। जल्द ही परियोजना की विस्तृत कार्ययोजना बना कर सरकार को सौंपी जाएगी।

...और मनभावन बनेगा मंडी शहर

मास्टर प्लान में मंडी शहर को विकास की दृष्टि से और मनभावन बनाने की प्लानिंग की गई है। नदी तट विकास योजना के तहत मंडी में ब्यास नदी और सुकेती खड्ड के किनारों के सुंदरीकरण और घाटों के निर्माण के कार्य किया जाएंगे। इसके अलावा नदी के किनारों पर टहलने के लिए पथ, सैरगाह बनाने की दिशा में भी काम होगा। शहर को बिजली के खंबों व बेतरतीब फैली तारों से निजात मिलेगी। बिजली की तारों को भूमिगत किया जाएगा। स्मार्ट स्ट्रीट लाइटेें लगाई जाएंगी। इसके अलावा शहर के सभी चौक सुंदर बनाने और सड़कों के सुधार और विस्तार, पैदल पथ और ओवर हैड ब्रिजबनाने का काम किया जाएगा। शहर को स्वच्छ रखने के लिए सीवरेज ड्रेनेज नेटवर्क को और सुदृढ़ किया जाएगा। इसके अलावा शहर में पार्क और पार्किंग स्थल विकसित किए जाएंगे।

डीसी ने मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर द्वारा नगर निगम के लिए की 15 करोड़ रुपये देने की घोषणा के संदर्भ में भी प्राथमिकता के आधार पर कार्य योजना बना कर आगे बढ़ने को कहा। यह धनराशि शहर के नियोजित विकास पर खर्ची जाएगी। उन्होंने निगम में जुड़े नए क्षेत्रों के विकास के लिए विशेष योजना बनाने पर जोर दिया। बता दें, मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर ने मंडी में आयोजित हुए राज्यस्तरीय स्वतंत्रता दिवस समारोह में नगर निगम मंडी के लिए 15 करोड़ की घोषणा की थी।

उन्होंने शहर में गलियों व नालियों की साफ सफाई और घरों से कूड़ा एकत्रण और निस्तारण की व्यवस्था को चाक चौबंद करने को कहा।

विकास के सुझाव

बैठक में नगर निगम महापौर दीपाली जस्वाल, उपमहापौर विरेन्द्र शर्मा, पार्षद सुमन ठाकुर, रणवीर सिंह, पंकज कपूर, अलकानंदा हांडा, माधुरी कपूर, विरेन्द्र सिंह आर्या, हरदीप सिंह, पुष्पराज कात्यायन, राजेन्द्र मोहन, सुदेश कुमारी, अंजय कुमारी, सोमेश उपाध्याय, निर्मल वर्मा और योग राज ने विकास कार्यों को लेकर बहुमूल्य सुझाव दिए।

बैठक में अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी एवं नगर निगम के आयुक्त राजीव कुमार, एसडीएम सदर रीतिका जिंदल सहित अन्य अधिकारी उपस्थिति रहे।