Movie prime
कलाकार और कलमकार संस्था हिम कल्याण लोक कला मंच की मासिक बैठक का आयोजन
कलाकार और कलमकार संस्था हिम कल्याण लोक कला मंच की मासिक बैठक का आयोजन
 
डलहौज़ी हलचल (बिलासपुर) : जिला की अग्रणी कलाकार और कलमकार संस्था हिम कल्याण लोक कला मंच की मासिक बैठक का आयोजन मंच के प्रधान सुरेंद्र मिन्हास  की अध्यक्षता में बिलासपुर पब्लिक स्कूल लुहनू में संपन्न हुआ। सर्वप्रथम दिल्ली की अग्रणी साहित्य संस्था भारत साहित्य संगम के विशेष तौर पर पधारे अध्यक्ष डॉ अरुण कुमार शास्त्री,कर्नल जसवंत सिंह चंदेल,शीला सिंह सहित कई जाने माने कलाकारों और कलमकारों ने मां सरस्वती और श्री श्री 1008 बाबा कल्याण दास जी महाराज उर्फ काले बाबा की प्रतिमाओं के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित करते हुए कार्यक्रम का शुभारंभ किया। उसके उपरांत मंच की उपाध्यक्षा कविता सिसोदिया ने सरस्वती वंदना गाकर कार्यक्रम का आगाज़  किया।

मुख्य अतिथि डॉ शास्त्री को मंच के अध्यक्ष सुरेंद्र मिन्हास, उपाध्यक्ष बुद्धि सिंह चंदेल,प्रबंधक शीला सिंह और सलाहकार ललिता कश्यप ने हिमाचली टोपी,अंगवस्त्र और अखिल भारतीय काले बाबा साहित्य शिरोमणि सम्मान से सम्मानित किया। तत्पश्चात मुख्य प्रबंधक चंद्रशेखर पंत,संयोजक सुशील पुंडीर,उपाध्यक्षा कविता सिसोदिया और वरिष्ठ सदस्या तृप्ता देवी ने कर्नल जसवंत सिंह चंदेल वी एस एम् को टोपी,अंगवस्त्र भेंट कर साहित्य के क्षेत्र में लाइफटाइम अचीवमेंट सम्मान से सम्मानित किया । इसके उपरांत कार्यक्रम के आयोजक चन्द्रशेखर पंत ने आए हुए महानुभावों का स्वागत किया। कार्यक्रम के अध्यक्ष सुरेंद्र मिन्हास ने मंच की गतिविधियों की जानकारी देते हुए भविष्य की योजनाओं पर प्रकाश डाला। मंच की सक्रिय सदस्या पूनम शर्मा ने चौदह नवंबर के उपलक्ष्य में बालक दिवस और बालक विषय पर प्रभावशाली पत्र वाचन प्रस्तुत किया।

कार्यक्रम के दौरान कर्नल जसवंत सिंह चंदेल की हाल ही में प्रकाशित दसवीं पुस्तक "कांगटू से बॉडीगार्ड हाउस तक" का विमोचन मुख्य अतिथि,अध्यक्ष एवम् वरिष्ठ सदस्यों ने बड़े हर्शोल्लास से किया। मंच के सदस्यों द्वारा लगाई गई कला प्रदर्शनी में स्टोन पेंटिंग,पेपर पेंटिंग,पांडुलिपियां,ऐतिहासिक एवम् प्राचीन छायाचित्र,प्राचीन एवम् धार्मिक पुस्तकें, प्राचीन सिक्कों और पांच लाख वर्ष पुराने फॉसिल को देखकर मुख्य अतिथि एवम् दर्शक हैरान रह गए।

इस कार्यक्रम का मंच संचालन कार्यालय सचिव राजपूत देवेन्द्र ठाकुर ने किया।