Movie prime
सिमरन जीत सिंह को ट्रॉफी देकर किया सम्मानित
राष्ट्रीय स्तरीय किक बॉक्सिंग प्रतियोगिता में सिल्वर मैडल विजेता हैं सिमरन जीत सिंह
 

 

डलहौज़ी हलचल (चंबा ) : प्रेरणा द इंस्पिरेशन संस्था द्वारा उपायुक्त कार्यालय चंबा में उपायुक्त डी सी राणा द्वारा राष्ट्रीय स्तरीय किक बॉक्सिंग प्रतियोगिता में  सिल्वर मैडल विजेता सिमरन जीत सिंह को ट्रॉफी देकर सम्मानित किया व उनका हौसला बढ़ाया। उपायुक्त द्वारा सिमरन जीत सिंह को उनके उन्नत भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी व भविष्य में चंबा के खिलाडी खेलों में अधिक से अधिक रूचि दिखाएँ और नशे से दूर रहे इसके लिए प्रशासन कि ओर से हर संभव प्रयास करने का भरोसा दिया।

इस मोके पर सिमरन जीत सिंह द्वारा संक्षेप में  अपनी उपलब्धियों व मेहनत के बारे में रूबरू करवाया। सिमरन जीत सिंह का शुरुआती सफर 2016 में  सुन्दरनगर में राज्यस्तरीय किक बॉक्सिंग चैंपियनशिप  में  स्वर्ण पदक हासिल करने के बाद शुरू हुआ। वर्ष 2017 में  उनका चयन राष्ट्रीय स्तरीय प्रतियोगिता के लिए हुआ जिसमे छत्तीसगढ़ में भी उन्होंने स्वर्ण पदक  जीता। वर्ष 2018 में भी उन्होंने  दिल्ली में राष्ट्रीय स्तरीय प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक हासिल किया। तत्पश्चात उनका चयन यूरोपियन अंतराष्ट्रीय कप (सर्बिआ) के लिए हुआ जहाँ पर सिमरनजीत सिंह ने ब्रोन्ज मैडल जीता और भारत का प्रतिनिधित्व किया।

अब एक बार फिर वर्ष 2021 में इन्होने राष्ट्रीय स्तरीय प्रतियोगिता जोकि  गोवा में  आयोजित की गई में सिल्वर मैडल हासिल किया है जोकि चम्बा वासियों के लिए गौरव का क्षण है। प्रेरणा द इंस्पिरेशन  टीम ने उपायुक्त चम्बा डी  सी राणा , एसडीएम चम्बा नवीन तंवर का खिलाडियों को बेहतर मंच मुहैया करवाने के लिए आभार व्यक्त किया। साथ ही उन्होंने सिमरन जीत सिंह जिन्होंने बिना कोच व उपयुक्त संसाधनों के कमी के बावजूद भी पूरे विश्व में चम्बा का नाम रोशन किया इसके लिए उन्हें बधाई दी ।  उन्होंने आशा जताई  कि आने वाले समय में  चंबा शहर और जिला के  दूर  दराज के क्षेत्रों से अनेक युवा निकलेंगे जो देश और  विदेशो में  चंबा जिला का नाम रोशन करेंगे ।

इस मोके विशेष तोर पर एसडीएम चंबा नवीन तंवर, सिमरन जीत सिंह के पिता मंजीत सिंह और उनकी माता हरविंदर कौर मौजूद रही। इसके अतिरिक्त प्रेरणा संस्था के सदस्य दीपक भाटिया, दिनेश शर्मा, अभिषेक राणा, मृणाल महाजन, रितेश चंद्रा, अजय कुमार और संदीप कुमार भी उपस्तिथ रहे ।