हमीरपुर में भूमि विवाद में मां, बेटे की गोली मार कर हत्या

हमीरपुर में भूमि विवाद में मां, बेटे की गोली मार कर हत्या

हमीरपुर में भूमि विवाद में मां, बेटे की गोली मार कर हत्या

डलहौज़ी हलचल (हमीरपुर) : हमीरपुर जिले के उपमंडल सुजानपुर के बीड़ बगेहड़ा गांव में में एक भूमि विवाद को लेकर शुक्रवार को एक महिला और उसके बेटे की गोली मार कर हत्या कर दी गयी। वहीँ मृतक महिला का पति और बहू गंभीर रूप से घायल हो गए।

दोनों गंभीर घायलों को सिविल अस्पताल सुजानपुर में प्राथमिक उपचार के बाद हमीरपुर मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया है। आरोपी व्यक्ति को गिरफ्तार कर पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है। जानकारी के अनुसार शुक्रवार अपराह्न 4:30 के करीब यह गोलीकांड हुआ। गोलीकांड में घायल हुए अजीत सिंह (66) ने बताया कि उनकी पत्नी विमला देवी (59) अपने खेत से मिर्ची तोड़ रही थी।

इसी दौरान उनका पड़ोसी चंचल सिंह अचानक मौके पर पहुंच गया। आरोप लगाया कि चंचल सिंह उसकी पत्नी पर गोली चला दी। गोली लगने से वह घायल होकर नीचे गिर गई। घायल अजीत सिंह ने पुलिस को जानकारी देते हुए आरोप लगाया कि गोलीबारी की आवाज सुनकर उनका बेटा करण उर्फ लकी (36) कमरे से बाहर आया तो उस पर भी चंचल ने गोली चला दी। बाद में बहू ममता (32) और अजीत सिंह को भी आरोपी ने गोली मारी। जिससे वह सभी गंभीर रूप से घायल हो गए। शोर मचाने पर ग्रामीणों ने तत्काल निजी वाहन से घायल पत्नी, बेटे तथा बहू को सुजानपुर अस्पताल भेज दिया। 

सूचना मिलने के बाद एंबुलेंस और पुलिस भी मौके पर पहुंची। जिसके बाद आरोपी चंचल सिंह को पुलिस ने उसके घर पर गिरफ्तार कर लिया है। जिस बंदूक से गोलियां चलाई थीं, उसे भी पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया। सुजानपुर अस्पताल में इलाज के लिए लाए गए करण सिंह और उसकी मां को बचाने की डॉक्टरों ने काफी कोशिश की। लेकिन, दोनों ने यहां दम तोड़ दिया। बीएमओ सुजानपुर डॉ. राजकुमार ने बताया कि दोनों गंभीर रूप से घायल लोगों को बचाने की पूरी कोशिश की गई लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। पुलिस अधीक्षक डॉ. आकृति शर्मा और डीएसपी सुनील दत्त ने पुलिस टीम के साथ घटना स्थल पर पहुंचकर आवश्यक जानकारी हासिल की।

पुलिस ने आरोपी व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया है। उधर, पुलिस अधीक्षक डॉ. आकृति शर्मा ने बताया कि दोनों पक्षों में लंबे समय से जमीन का विवाद चल रहा है, जिसके चलते यह मामला सामने आया है। पता चला है कि एसडीएम कार्यालय सुजानपुर में भी यह विवाद लंबित है। बताया कि खुद घटनास्थल पर पहुंचकर उन्होंने घटना से जुड़े तथ्यों और जानकारी को जुटाकर अधीनस्थ अधिकारियों को मामले की जांच के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं।