Movie prime
मुख्यमंत्री ने हर घर तिरंगा अभियान की तैयारियों की समीक्षा की
मुख्यमंत्री ने हर घर तिरंगा अभियान की तैयारियों की समीक्षा की
 
डलहौज़ी हलचल (शिमला) : मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज यहां आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत हर घर तिरंगा अभियान, हिमाचल के गठन के 75 वर्षों के आयोजन और विशेष टीकाकरण अभियान के दृष्टिगत सभी जिलों के उपायुक्तों, पुलिस अधीक्षकों और मुख्य चिकित्सा अधिकारियों के साथ वर्चुअल माध्यम से आयोजित बैठक की अध्यक्षता की। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि सभी 14.83 लाख घरों, अधिकारिक भवनों, शैक्षणिक संस्थानों और निजी प्रतिष्ठानों में जन भागीदारी से 13 से 15 अगस्त तक तिरंगा फहराया जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय राष्ट्रीय ध्वज प्रत्येक भारतीय के लिए राष्ट्रीय गौरव का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत हमारे राष्ट्रीय ध्वज को सम्मान प्रदान करने के उद्देश्य से हर घर तिरंगा अभियान आयोजित करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि यह प्रत्येक भारतीय को अपने घरों में राष्ट्रीय ध्वज फहराने के लिए प्रेरित करता है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि इस आयोजन को सफल बनाने के लिए पंचायती राज संस्थाओं और शहरी निकायों के प्रतिनिधियों की सहभागिता सुनिश्चित की जाएगी। उन्होंने कहा कि स्वयं सहायता समूह, युवक मण्डल, महिला मण्डल और अन्य गैर सरकारी संगठनों को विस्तृत स्तर पर शामिल किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि विभिन्न सांस्कृतिक, सामाजिक और धार्मिक संगठनों को भी इसमें अवश्य शामिल किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि उपायुक्तों के पास राष्ट्रीय ध्वज की उपलब्धता के लिए एक प्रभावी तंत्र विकसित किया जाना चाहिए ताकि उन्हें सम्बन्धित जिलों में वितरित किया जा सके।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश की सभी सरकारी वैबसाइटों के होम पेज पर 22 जुलाई से राष्ट्रीय ध्वज दिखाई देना चाहिए तथा नागरिकों को भी फेस बुक, इंस्ट्राग्राम, ट्वीटर और अन्य सोशल मीडिया अकाऊंट्स पर तिरंगा प्रदर्शित करने के लिए प्रोत्साहित किया जाना चाहिए। उन्होंने लोगों को तिरंगे के साथ सेल्फी लेने का भी आग्रह किया। उन्होंने कहा कि बच्चे, बुजुर्ग, युवा और किशोर मिल कर भारत माता के गौरव में गीत गाएं और जनता में देशभक्ति की भावना जागृत करने के लिए गांवों में तिरंगा लेकर प्रभातफेरी निकालें।

जय राम ठाकुर ने कहा कि सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग विज्ञापन के माध्यम से इस आयोजन को बढ़ावा देने के लिए अभियान चलाए ताकि इस आयोजन को जन आन्दोलन बनाया जा सके।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश अपने अस्तित्व के 75 वर्ष मना रहा है, इसलिए राज्य के 75 स्थानों में जन सम्पर्क कार्यक्रम आयोजित किए जायेंगे। उन्होंने कहा कि यह आयोजन 15 दिनों की अवधि में होगा और प्रतिदिन 5 से 6 कार्यक्रम करवाए जायेंगे। उन्होंने अधिकारियों को प्रदेश के विभिन्न सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों को शामिल कर, इसे जन आन्दोलन बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पिछले 75 वर्षों की विकास यात्रा को प्रदर्शित करने के लिए सभी आयोजन स्थलों पर प्रदर्शनियां भी लगाई जानी चाहिए।

जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य पर्यटन विभाग सूचना, शिक्षा और सम्प्रेषण सामग्री के मुद्रण के लिए नोडल विभाग होगा और विभिन्न विभागों की योजनाओं और विभिन्न क्षेत्रों में प्रदेश की पिछले 75 वर्षों की विकास यात्रा को प्रदर्शित करते हुए एक बुकलेट/लीफलेट तैयार की जाएगी। उन्होंने सम्बन्धित विभागों को प्रदेश द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में किए गए विकास का तुलनात्मक विवरण तैयार करने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार ने 15 जुलाई से 30 सितंबर, 2022 तक लोगों को निःशुल्क एहतियाती खुराक उपलब्ध करवाने के लिए कोविड वैक्सीन अमृत महोत्सव नाम से एक नई पहल की भी घोषणा की है। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश ने टीके की पहली और दूसरी खुराक लगाने में बेहतरीन प्रदर्शन किया है, इसलिए राज्य को एहतियाती खुराक लगाने में भी बेहतर प्रदर्शन करना चाहिए। उन्होंने उपायुक्तों को टीकाकरण की एहतियाती खुराक लगाने के लिए लोगों को प्रेरित करने के लिए विशेष अभियान शुरू करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इसके लिए शिक्षण संस्थानों में भी विशेष अभियान चलाया जाना चाहिए और इस संबंध में पंचायती राज संस्थाओं और शहरी स्थानीय निकायों के प्रतिनिधियों को शामिल किया जाना चाहिए।

जय राम ठाकुर ने कहा कि टीकाकरण से वंचित लोगों के टीकाकरण के लिए विशेष अभियान चलाया जाना चाहिए और एहतियाती खुराक के बारे में लोगों को जागरूक करने और लाभार्थियों को टीकाकरण केेद्रों तक पहुंचाने के लिए स्वयं सहायता समूहों की भागीदारी सुनिश्चित की जानी चाहिए। मुख्य सचिव आर.डी. धीमान ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया और बैठक की कार्यवाही का संचालन किया। उन्होंने मुख्यमंत्री को आश्वासन दिया कि इन तीनों आयोजनों को सफल बनाने में अधिकारी कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

प्रधान सचिव सामान्य प्रशासन भरत खेड़ा ने हिमाचल प्रदेश के अस्तित्व के 75 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में प्रस्तुती दी। प्रधान सचिव स्वास्थ्य सुभासीष पन्डा ने कोविड-19 की एहतियाती खुराक पर प्रस्तुति दी। सचिव भाषा, कला एवं संस्कृति राकेश कंवर ने हर घर तिरंगा अभियान के संबंध में प्रस्तुति दी। इस अवसर पर सभी जिला उपायुक्तों ने भी अपने बहुमूल्य सुझाव प्रदान किए।

प्रधान सचिव ओंकार शर्मा, आर.डी. नजीम, डॉ. रजनीश, देवेश कुमार, हिमाचल पथ परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक संदीप कुमार, निदेशक ग्रामीण विकास ऋग्वेद ठाकुर, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के मिशन निदेशक हेमराज बैरवा, निदेशक सूचना एवं जन सम्पर्क हरबंस सिंह ब्रसकोन, निदेशक भाषा कला एवं संस्कृति डॉ. पंकज ललित और अन्य वरिष्ठ अधिकारी इस अवसर पर उपस्थित थे।