Movie prime
उपायुक्त ने डेंगू की रोकथाम के लिए दिए उचित निर्देश
उपायुक्त ने डेंगू की रोकथाम के लिए दिए उचित निर्देश
 
डलहौज़ी हलचल (सोलन)  : ज़िला स्तरीय कार्यबल समिति की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपायुक्त सोलन कृतिका कुलहरी ने कहा कि ज़िला के परवाणू, नालागढ़, बद्दी व बरोटीवाला में डेंगू के बढ़ते मामलो में कमी लाने के लिए उचित कदम उठाने की आवश्यकता है। कृतिका कुलहरी ने ज़िला में डेंगू की रोकथाम के लिए विभिन्न विभागों को उचित कार्रवाई करने के निर्देश दिए। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को डेंगू से बचाव व जागरूक करने के लिए व्यापक प्रचार-प्रसार के निर्देश भी दिए।

उन्होंने जल शक्ति विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिन क्षेत्रों में डेंगू का प्रभाव अधिक है उन क्षेत्र में पानी की सप्लाई नियमित दी जाए ताकि लोगों को कम पानी इकट्ठा करना पड़े और डेंगू की ब्रीडिंग साइट कम हो सके। उन्होंने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि सड़कों के किनारे गढ्ढे भरने व नालियों को साफ करना सुनिश्चित करें ताकि उन में पानी इकठ्ठा न हो। उन्होंने नगर निगम सोलन के अधिकारियों को भी निर्देश दिए कि डेंगू के प्रभाव को कम करने के लिए नियमित फोगिंग और स्प्रे करना सुनिश्चित करें।

उपायुक्त ने कहा कि आज़ादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत कोविड-19 बूस्टर डोज़ 30 सितम्बर, 2022 तक पात्र व्यक्ति सभी सरकारी अस्पतालों निःशुल्क वैक्सीनेशन लगा सकते है। उन्होंने सभी पात्र लोगों से वैक्सीनेशन लगाने की अपील की ताकि ज़िला को कोविड मुक्त बनाया जा सके। 

उन्होंने कहा कि ज़िला को क्षयरोग मुक्त बनाने के लिए 12 सितम्बर से 02 अक्तूबर, 2022 तक 21 दिन का क्षयरोग मुक्त जागरूकता अभियान आरम्भ किया जा रहा है। इस अभियान के अंतर्गत स्वास्थ्य विभाग की टीमें घर-द्वार जाकर लोगों से क्षयरोग के बारे में प्रश्नों के माध्यम से जानकारी एकत्रित की जाएगी।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. राजन उप्पल ने बताया कि डेंगू बुखार एक फ्लू जैसी बीमारी है, जो डेंगू वायरस के कारण होती है। यह तब होता है, जब वायरस वाला एडीज मच्छर किसी स्वस्थ व्यक्ति को काटता है। उन्होंने कहा कि यह मच्छर रुके हुए साफ पानी में होता है। डेंगू के मच्छर का सुबह अथवा दोपहर के समय काटने की संभावनाएं ज्यादा होती है। उन्होंने बताया कि मच्छर कि ब्रीडिंग साइट को खत्म करने के लिए घरों के आसपास पानी इकट्ठा न होने दें, फ्रीज व कूलर के पानी को कम से कम सप्ताह में एक बार अवश्य बदले, पीने वाले पानी को ढक कर रखें, टायरों और अन्य किसी भी वस्तु मे बरसात का पानी इकठ्ठा न होने दे।

इस अवसर पर ज़िला स्वास्थ्य अधिकारी सोलन डाॅ. अमित रंजन तलवार, ज़िला आयुर्वेदिक अधिकारी सोलन डाॅ. प्रवीन शर्मा, ज़िला कार्यक्रम अधिकारी आर.एस. नेगी सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।