Movie prime
जानिये क्यूँ अभिभावको ने बनीखेत डीएवी कॉलेज प्रशासन के खिलाफ खोला मोर्चा
जानिये क्यूँ अभिभावको ने बनीखेत डीएवी कॉलेज प्रशासन के खिलाफ खोला मोर्चा
 

डलहौज़ी हलचल (बनीखेत) मुकेश कुमार गोल्डी  : आज बनीखेत डीएवी कॉलेज में उस समय एक बड़ा हाई वोल्टेज ड्रामा हो गया जब 11वीं व 12वीं (वाणिज्य) की शिक्षा ले रहे बच्चों के अभिभावको ने कॉलेज प्रशासन पर हल्ला बोल दिया तथा अपने बचाव में कॉलेज प्रशासन द्वारा स्थानीय पुलिस की मदद लेनी पड़ी ।

बनीखेत डीएवी कॉलेज

यह सारा मामला जमा एक व जमा दो (वाणिज्य) की पढ़ाई कर रहे बच्चों ने अपने अभिभावको को जब यह बताया कि कॉलेज प्रशासन द्वारा उन्हें मात्र एक ही शिक्षक द्वारा पढ़ाया जा रहा है उसी शिक्षक द्वारा वाणिज्य की पढ़ाई कर बच्चों को प्राइमरी स्कूल की तरह एक ही शिक्षक के द्वारा लागत लेखांकन ,वित्तीय लेखांकन एवं अर्थशास्त्र की पढ़ाई करवाई जा रही है। जिस बारे में बच्चों ने जब अपने अभिभावकों को बताया तो उन्होंने आज कॉलेज में आकर जब बात करने की कोशिश की तो गुस्साए कॉलेज प्रशासन ने आनन-फानन में स्थानीय पुलिस को बुला लिया गया पुलिस के कॉलेज परिसर में पहुंचते ही यह मामला इतना गर्मा गया कि कुछ समय के लिए ऐसा लगने लगा कि अभिभावको एवं कॉलेज प्रशासन के बीच यह सारा मामला उलझ जाएगा किंतु स्थानीय पुलिस की सूझ-बूझ ने इस सारे मामले को शांत कर एक नतीजे तक पहुंचा दिया तथा  कॉलेज प्रशासन ने अंततः यह स्वीकार कर लिया की बच्चों के लिए वह अतिरिक्त अध्यापकों का प्रबंध करेंगे तथा बच्चों को पढ़ाई से संबंधित आ रही परेशानी से जल्द ही निजात दिला दिया जाएगा। तथा इस बात का पूरा ध्यान रखा जाएगा कि भविष्य में ऐसी किसी तरह की परेशानी से बच्चों एवं अभिभावकों को ना जूझना पड़े।

बनीखेत डीएवी कॉलेज

काबिले गौर है कि बीते कुछ समय पहले ही स्थानीय कॉलेज से के शिक्षकों को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया जिसका खामियाजा सीधे तौर पर शिक्षा ग्रहण कर रहे बच्चों एवं अभिभावकों को भुगतना पड़ रहा है लेकिन कॉलेज प्रशासन का सीधे तौर पर कहना है कि उन अध्यापकों को हमने नहीं निकाला बल्कि वे सभी अपनी मर्जी से कॉलेज छोड़ कर गए हैं। आखिर यह कितना सच है यह स्थानीय कॉलेज प्रशासन जानता है या फिर वह अध्यापक जिन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है।