Movie prime
विवाहिता की संदिग्ध हालात में जलने से मौत, जाँच में जुटी पुलिस
 
डलहौज़ी हलचल (कांगड़ा) : पुलिस थाना हरिपुर के अंतर्गत आने वाले गांव धार में एक 25 वर्षीय विवाहिता की संदिग्ध परिस्थितियों में जलने से दुःखद मौत का मामला सामने आया है। मृतका  की पहचान रोजी, पत्नी मुकेश कुमार, निवासी गांव व डाकघर धार तहसील हरिपुर के रूप में हुई है। जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर टांडा मेडिकल अस्पताल पोस्टमार्टम  के लिए भेज दिया है।

जानकारी के अनुसार रजिता कुमारी उर्फ रोजी (25) की शादी मुनीष कुमार के साथ चार साल पहले हुई थी। उनकी पांच माह की बच्ची है। ससुराल पक्ष का कहना है कि रजिता और मुनीष की शुक्रवार रात को किसी बात पर बहस हुई थी। इस पर परिवार के सदस्य मनीष को समझाते हुए उसे निचली मंजिल पर लेकर आ गए। इतने में ऊपरी मंजिल से चिल्लाने की आवाज व धुआं उठता देखकर मनीष और घर वाले कमरे की ओर भागे। उन्होंने देखा कि रजिता बुरी तरह से जल रही थी। आग को बुझाते समय मनीष भी 15 फीसदी जल गया है, जो अस्पताल में उपचाराधीन है।

मौके पर आए डीएसपी देहरा चंद्रपाल सिंह ने कहा कि दोनों पक्षों के बयान लिए जा रहे हैं। मामले की गहराई से छानबीन की जा रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट और फोरेंसिक टीम की रिपोर्ट आने के बाद ही अगली कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल, प्रारंभिक जांच में लग रहा है कि महिला ने मिट्टी का तेल छिड़ककर आग लगाई है। 

रजिता के भाई लीला कृष्ण ने बताया कि वह अपनी बहन से हर रोज वीडियो कॉल के जरिये बातें करता था। लेकिन बीती रात 9:00 बजे के करीब जब फोन किया तो फोन बहन के पति ने उठाया। उसने बदतमीजी से बात की। उसके बाद कई बार कॉल की लेकिन किसी ने फोन नहीं उठाया। बार-बार फोन करने के बाद ससुर ने एक बार फोन उठाया और कहा कि लड़की बिल्कुल ठीक है। पेट में दर्द हो रहा है, इसलिए बात नहीं हो सकती। उन्होंने फोन रख दिया परंतु फोन बंद नहीं हुआ था। इससे वहां पर जो भी आपस में बात हुई, वह साफ-साफ सुनाई दे रही थी। भाई का आरोप है कि हमें एक बार भी नहीं बताया कि लड़की जलकर मर चुकी है।  ससुराल वालों के बयान अलग-अलग सामने आए। यह भी कहा कि गैस सिलिंडर लीक होने की वजह से लड़की को आग लगी है। रजिता के अंतिम संस्कार के दौरान मायका पक्ष व ससुराल पक्ष में तीखी बहस हुई। मायका पक्ष रजिता के पति को सामने लाने की बात कर रहा था और यह भी मानने को तैयार नहीं कि लड़की ने खुद आत्महत्या की है। पुलिस की कार्यप्रणाली पर भी मायका पक्ष ने आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस आरोपी को बचाने का काम कर रही है।