Movie prime
एक दिवसीय वित्तीय साक्षरता शिविर का आयोजन
एक दिवसीय  वित्तीय साक्षरता शिविर  का आयोजन
 
 डलहौज़ी हलचल (मंडी) :  हिमाचल प्रदेश राज्य सहकारी बैंक वित्तीय साक्षरता केंद्र मंडी द्वारा राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) के सौजन्य से गांव सरोआ तहसील चच्योट में एक दिवसीय  वित्तीय साक्षरता शिविर  का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम का आयोजन  हिमाचल प्रदेश राज्य सहकारी बैंक जिला कार्यालय मंडी से वित्तीय साक्षरता समन्वयक श्री राकेश ठाकुर ने किया। उन्होंने शिक्षा का महत्व समझाते हुए कहा कि शिक्षा हर व्यक्ति  के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। शिक्षा घर से शुरू होती है और जीवन भर जारी रहती है। शिक्षा हमें नई चीजें सीखने, अच्छी नौकरियां खोजने और समाज में सम्मानजनक जीवन जीने में मदद करती है। एक व्यक्ति जितना अधिक शिक्षित होता है, जीवन में उसकी सफलता की संभावना उतनी ही अधिक होती है। तो वहीं दूसरी ओर वित्तीय शिक्षा  इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि यह हमें पैसे को प्रभावी ढंग से प्रबंधित करने के लिए आवश्यक ज्ञान और कौशल से परिपूर्ण करती है।

उन्होंने कहा कि व्यक्ति को हमेशा यह ध्यान देना चाहिए के उसके द्वारा कमाई की जाने वाली राशि और उसके खर्चों का अनुपात संतुलन मे रहे और खर्चे  कमाई के 70% से ज्यादा न हो। लोन लेते समय यह गणना करनी चाहिए के जो लोन लिया जा रहा है उसकी किस्त  70% की गणना मे सम्मिलित हो। उन्होंने कहा कि  व्यक्ति को नियमित रूप से निवेश की आदत डालनी चाहिए और अपनी कमाई का 20- 30 % निवेश करना चाहिए जिससे भविष्य को सुरक्षित किया जा सके।  व्यक्ति को अपने पैसो का निवेश करते समय ये ज़रूर देखना चाहिए के वो जहां निवेश कर रहा है उसकी लिक्विडिटी कितनी है। बीमा के महत्व  को कभी कम नही आंकना चाहिए क्योंकि थोड़ी सी प्रीमियम  आपको किसी बड़े जोखिम से बचा सकती है। पैसो को कभी भी केश के रूप मे  घर मे नहीं रखना चाहिए क्योंकि इन्फ़्लेशन के कारण आपके पैसो की कीमत खुद ब खुद कम होती जाती है।

उन्होंने कहा कि  जब भी निवेश करना हो तो यह देख ले के उसका ब्याज इन्फ़्लेशन की दर से कम है या ज्यादा। बहुत से व्यक्ति ब्याज की गणना तो करते है लेकिन इन्फ़्लेशन का ध्यान नही रखते जिससे उनको प्राप्त होने वाला ब्याज महंगाई से उनकी सुरक्षा करने मे विफल हो जाता है और व्यक्ति को और अधिक परिश्रम करना पड़ता है। उन्होंने बैंक और नाबार्ड की विभिन्न योजनाओं की विस्तृत जानकारियां भी उपस्थित लोगों को दी।

इस मौके पर कॉलेक्टर कम डिप्टी  रजिस्ट्रार सहकारी सभाएं सेंट्रल जोन मण्डी श्री कमलेश कुमार ने कहा कि  देश को डिजिटल रूप से विकसित करने और देश के आईटी संस्थान में सुधार करने के लिए, डिजिटल इंडिया महत्वपूर्ण पहल है।  डिजिटलीकरण के कारण अब घर बैठे हम रेल, वायुयान, बस के टिकट्स बुक कर सकते हैं। अब लंबी-लंबी कतारों में खड़े होने की जरुरत नहीं। अब हर काम ऑनलाइन संभव है। कोई भी जानकारी चाहिए, सब कुछ इंटरनेट पर मौजूद है। उन्होंने नाबार्ड और बैंक द्वारा चलाये जा रहे वित्तीय साक्षरता कार्यक्रमों की सराहना की। 

इस मौके पर स्थानीय ग्राम पंचायत के प्रधान श्री पूरन चंद, सचिव मुन्नी लाल , प्रधानाचार्य श्री हेत राम , और गावं के अन्य व्यक्ति मौजूद रहे I