Movie prime
क्षेत्रीय अस्पताल में चेकअप को आनलाइन पंजीकरण की सुविधा शुरू: डीसी
क्षेत्रीय अस्पताल में चेकअप को आनलाइन पंजीकरण की सुविधा शुरू: डीसी
 
डलहौजी हलचल (धर्मशाला) :- क्षेत्रीय अस्पताल धर्मशाला में अब रोगी चेकअप के लिए आनलाइन पंजीकरण भी करवा सकते हैं, राज्य का पहला क्षेत्रीय अस्पताल है जहां पर यह सुविधा रोगियों को उपलब्ध रहेगी। यह जानकारी उपायुक्त डा निपुण जिंदल ने शनिवार को क्षेत्रीय अस्पताल की रोगी कल्याण समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए दी। इस अवसर पर विधायक विशाल नैहरिया बतौर मुख्यातिथि बैठक में उपस्थित रहे।

   उन्होंने कहा कि प्रारंभिक तौर पर आनलाइन पंजीकरण के तहत रोगियों के चेकअप के लिए सांय तीन से चार बजे तक का समय निर्धारित किया गया है, इस सुविधा के साथ अगर ज्यादा रोगी जुड़ते हैं तो चेकअप के समय में और भी बढ़ोतरी की जा सकेगी। उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय अस्पताल में अब सभी ओपीडी में विशेषज्ञ चिकित्सक नियुक्त कर दिए गए हैं।

    उपायुक्त डा निपुण जिंदल ने कहा कि क्षेत्रीय अस्पताल धर्मशाला को इको फ्रंेडली अस्पताल के रूप में प्रथम स्थान हासिल हुआ इस के लिए दस लाख की राशि भी पुरस्कार के रूप में क्षेत्रीय अस्पताल धर्मशाला को प्राप्त हुई है। इसी तरह से कायाकल्प में भी क्षेत्रीय अस्पताल धर्मशाला को दूसरा स्थान प्राप्त हुआ है इस के लिए पच्चीस लाख की राशि ईनाम स्वरूप मिली है।

     उपायुक्त डा निपुण जिंदल ने कहा कि क्षेत्रीय अस्पताल की टीम रोगियों को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय अस्पताल धर्मशाला में एपीएल, बीपीएल के लिए फ्री डायलेसिस की सुविधा प्रदान की जा रही है इसी तरह से अल्ट्रासाउंड तथा एक्सरे टेस्ट भी की सुविधा उपलब्ध है ताकि रोगियों को किसी भी तरह की परेशानी नहीं झेलनी पड़े।

   उपायुक्त डा निपुण जिंदल ने कहा कि क्षेत्रीय अस्पताल में दवाइयों की किसी भी तरह की कमी नहीं है इसके साथ ही विभिन्न टेस्टों की सुविधा भी लैब के माध्यम से दी जा रही है। उपायुक्त डा निपुण जिंदल ने कहा कि अस्पताल में तीन सौ के करीब बेडस की भी सुविधा उपलब्ध है।

इससे पहले चिकित्सा अधीक्षक डा राजेश गुलेरी ने मुख्यातिथि का स्वागत करते हुए क्षेत्रीय अस्पताल में चल रहे विभिन्न कार्यों के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान की गई। इस अवसर पर महापौर ओंकार नैहरिया, उपमहापौर सर्वचंद गलोटिया, सीएमओ डा गुरदर्शन गुप्ता सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी तथा गैर सरकारी सदस्य भी उपस्थित थे।