Movie prime
अंकित हत्याकांड में पुलिस ने परिवार से सम्बन्ध रखने वाले चार व्यक्तियों को किया गिरफ्तार
अंकित हत्याकांड में पुलिस ने परिवार से सम्बन्ध रखने वाले चार व्यक्तियों को किया गिरफ्तार
 
डलहौज़ी हलचल (बिलासपुर) : बिलासपुर जिले  के समोह गांव में हुए अंकित हत्याकांड मामले में पत्रकारों को संबोधित करते हुए एसपी बिलासपुर एसआर राणा ने कहा कि को थाना झंडूता में धारा 302, 201,120B भादस के तहत दर्ज हत्या के मामले में कार्यवाही अमल में लाते हुए, शनिवार को मृतक के परिवार से सम्बन्ध रखने वाले चार व्यक्तियों में तीन पुरुष व एक महिला को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार चारों आरोपियों को शनिवार माननीय न्यायालय जेएमएफसी झंडूता में पेश किया गया। एसपी एसआर राणा ने कहा कि उन्हें 22 जुलाई से 28 जुलाई 6 दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा गया है । जिन्हे 28 जुलाई को माननीय न्यायालय में पेश किया जाएगा। इन गिरफ्तार चारों आरोपियों में चमन लाल पुत्र देवी राम, हेमराज पुत्र देवी राम, किरण पत्नी हेमराजऔर देवी राम आयु 66 वर्ष है।

पुलिस ने इसके अलावा घर की तलाशी के दौरान एक कमरे से दराट, कुल्हाड़ी, बडा चाकू व अन्य तेजधार हथियार भी बरामद किया है। वहां पर कुछ खून के निशान भी मिले है। बहरहाल पुलिस द्वारा गठित एसआईटी की दो टीमें जांच कर रही है। एसपी एसआर राणा ने बताया कि अंकित कुमार आयु 19 वर्ष जो 14 जुलाई से लापता चल रहा था लेकिन इसके अभिभावकों ने 19 जुलाई को पुलिस में गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखवाई। 21 जुलाई को पुलिस को किसी ने घर के समीप एक बोरी में शव होने की सूचना पुलिस को दी। जिस पर पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए बंद बोरी में पड़े शव की जांच करने के लिए मंडी से फोरेंसिक टीम बुलाई। इस बोरी में शव का निचला हिस्सा ही मिला था। वहीं उसके कुछ देर बाद किसी अन्य व्यक्ति ने बरोहा के पास इसी तरह बोरी के बारे में सूचना दी। जिस पर फोरेंसिक टीम ने उस बोरी में पड़े गले सडे शव की जांच की तो वह किसी जानवर के पाए गए। गत 22 जुलाई को पुलिस को घर की विपरीत दिशा में करीब 300 मीटर की दूरी पर अंकित के शव का ऊपरी हिस्सा बंद बोरी में मिला।

एसपी एसआर राणा ने कहा कि पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखते हुए तुरंत एफएसएल की टीम को फिर से बुलाया। पुलिस द्वारा शनिवार को शव का पोस्टमार्टम बिलासपुर क्षेत्रीय अस्पताल में बुलाया। इस मामले में पुलिस डॉक्टरों से भी राय लेगी कि किस तरह के हथियारों का प्रयोग हुआ था।

उन्होंने बताया कि पुलिस द्वारा इस मामले की जांच के लिए गत शुक्रवार को एसआईटी का गठन किया गया था । जिसके तहत दो टीमें गठित की गई। इनमें से सबूत जुटाने के लिए गठित एएसपी अमित कुमार की अगुवाई में गठित टीम ने अंकित के परिजनों के शक के आधार पर साथ लगते घर की तलाशी ली तो पुलिस को उस घर के एक कमरे से दराट, कुल्हाडी, बडा चाकू व अन्य तेजधार हथियार भी बरामद किया है। वहां पर कुछ खून के निशान भी मिले है।

पुलिस ने इस मामले में पूछताछ के लिए दस लोगों को बुलाया था। जिसमें पुलिस ने एक ही परिवार के लोगों से गहनता से पूछताछ की। इसके आधार पर ही उन्हें गिरफ्तार किया गया । पुलिस को आशंका है कि अंकित की हत्या में इन चार लोगों की मुख्य भूमिका रही होगी। पुलिस को आशंका है कि इस मामले में और लोग भी शामिल हो सकते है।

उन्होंने बताया कि एसआईटी के तहत गठित दूसरी टीम डीएसपी घुमारवीं अनिल कुमार की अगुवाई में गठित की गई तो मोबाइल, सीसीटीवी कैमरे व अन्य सबूत जुटाने का प्रयास कर रही है।