Movie prime
युवा-विद्यार्थी स्वामी दयानंद सरस्वती की परम्पराओं को आगे बढ़ाने का कार्य करें -सरवीण चौधरी
युवा-विद्यार्थी स्वामी दयानंद सरस्वती की परम्पराओं को आगे बढ़ाने का कार्य करें -सरवीण चौधरी
 

डलहौज़ी हलचल (धर्मशाला) : सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री सरवीण चौधरी ने कहा कि युवा-विद्यार्थी स्वामी दयानंद सरस्वती की परम्पराओं को आगे बढ़ाने का कार्य करें। विद्यालयों की भूमिका पर बोलते हुए सरवीन चौधरी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बताए गये प्रकल्पों पर विद्यालय गम्भीरता से कार्य करें। उन्होंने कहा कि विद्यालय शिक्षकों और विद्यार्थियों के समूह बना कर स्वच्छता, प्लास्टिक मुक्त भारत और पर्यावरण संरक्षण जैसे विषयों पर कार्य करें।

धर्मशाला 

    आज शाहपुर विधानसभा क्षेत्र के घरोह में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला में पारितोषिक वितरण समारोह  में शिरकत करने के  उपरांत बोल रही थीं। इस दौरान स्कूली बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। सरवीण ने सांस्कृतिक कार्यक्रम की सराहना करते हुए कहा कि ऐसे कार्यक्रम भारत की सांस्कृतिक एकता को दर्शाते हैं। इस अवसर पर उन्होंने कार्यक्रम में प्रस्तुति देने वाले विद्यार्थियों को स्मृति चिन्ह और स्कूल में शिक्षा और खेलों में श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को स्मृति चिन्ह एवं पुरस्कार भेंट किए। इसके अतिरिक्त सरवीण ने सांस्कृति कार्यक्रमों को बढ़ावा देने के लिए वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला घरोह 8 हज़ार  रूपये की राशि भेंट की।

धर्मशाला

 सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने अपने सम्बोधन में कहा कि स्वर्ण जयंती उत्कृष्ट महाविद्यालय योजना   वर्ष 20-20- 21 में आरंभ इस योजना के अंतर्गत वर्ष 2020  -20 और 20-20-22 में 9-9महाविद्यालयों को स्वर्ण जयंती उत्कृष्ट महाविद्यालय में नामित किया गया ।इन महाविद्यालयों के समावेशी विकास के लिए एक करोड़ पर प्रदान किए गए अखिलेश स्कूल भर्ती योजना के अंतर्गत वर्ष 2019 -20 में 8,30,945 विद्यार्थी लाभान्वित हुए हैं जिस पर 73 करोड़ रु व्यय किये गए । वर्ष 2020- 21  के दौरान 7, 90,692 विद्यार्थियों को स्कूल वर्दी प्रदान की गई जिस पर 70 करोड़ खर्च किए गए।वर्ष 2021-22 के दौरान 8,05,556 विद्यार्थियों को वर्दी दी जाएगी 2018-19 में पहली, तीसरी , छठी और नौंवी कक्षा के सभी विद्यार्थियों को निशुल्क स्कूल बैग प्रदान किये जा रहे हैं । वर्ष 2019-20 में 2,56,514 विद्यार्थी इससे लाभान्वित हुए हैं । पहली से आठवीं  कक्षा तक के सभी विद्यार्थियों को निशुल्क पाठ्य पुस्तकें उपलब्ध करवाई गई। 9वीं व 10वीं कक्षा में पढ़ रहे अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति अन्य पिछड़ा वर्ग तथा बीपीएल परिवारों के 4,75,650 विद्यार्थियों को 53 करोड़ व्यय करके निशुल्क पाठ्य पुस्तकें प्रदान की गई । अटल निर्मल योजना के अंतर्गत 10 विद्यार्थियों से कम वाली प्राथमिक माध्यमिक पार्षदों को टेरा वाटर फिल्टर और 10 से अधिक विद्यार्थियों वाली पाठशाला को वाटर प्यूरीफायर दिए जाएंगे अब तक 300 पाठशालाओं   को टेरा वाटर फिल्टर और 145 पाठशालाओं को पानी वाटर प्यूरीफायर लगाए जा चुके हैं जबकि 155 पाठशालाओं  में वाटर प्यूरीफायर को लगाने की प्रक्रिया जारी है।

धर्मशाला

 सरवीण ने कहा पेयजल योजना घरोह गढ़ सैरा नोरा के अंतर्गत नई स्कीम  बौठु गढ़ को बनाया गया साथ ही जल जीवनमिशन मिशन के अन्तर्ग 149 नलके लगाए गए इन कार्यों पर 1 करोड़ 20 लाख रुपये व्यय किये  गये ।इसके अतिरिक्त बड्डी कुहल के पुनः निर्माण के लिए 45 लाख रूपये खर्च किये गए जिससे घरोह , मैट्टी ,बंडी व कल्याडा 4 पंचायतो को पानी उपलब्ध करवाया जा रहा है । सरवीण ने बताया कि   घरोह स्कूल भवन के लिए 1 करोड़ 25  लाख रुपये सरकार द्वारा स्वीकृत करवाकर  ज़िस में से 9 लाख रुपये उपलब्ध करवा दिए गए  हैं । इसके उपरांत सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने घरोह में लोगों की समस्याओं को सुना। अधिकतर का मौके पर ही निपटारा कर दिया तथा शेष समस्याओं के समाधान के लिए सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए ।

धर्मशाला

 इस अवसर पर बीडीओ  रैत अनमोल एसडीओ लोकनिवि विवेक कालिया , जेई जल शक्ति  त्रिलोचन शिक्षक संघ के प्रांत अध्यक्ष पवन कुमार चेयरमैन विजय चौधरी पूर्व बीडीसी चेयरमैन अश्विनी चौधरी , बीडीसी उपाध्यक्ष मोनी बाला प्रधान घरोह तिलक शर्मा विभिन्न स्कूलों के प्रधानाचार्य, स्थानीय पंचायत प्रतिनिधी, विभिन्न विभागों से आए अधिकारी व कर्मचारी, स्कूली बच्चे, बच्चों के अभिभावक व स्थानीय लोग उपस्थित रहे।