Movie prime
मातृभूमि की रक्षा के लिए समर्पित भारत के वीर सपूतों पर देश को गर्व है- डॉ सैजल
मातृभूमि की रक्षा के लिए समर्पित भारत के वीर सपूतों पर देश को गर्व है- डॉ सैजल
 
डलहौज़ी हलचल (सोलन) : स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा आयुष मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने आज नालागढ़ स्थित सैनिक सामुदायिक भवन में आयोजित 23वीं कारगिल दिवस कार्यक्रम की अध्यक्षता की। डॉ. सैजल ने इस अवसर पर देश व प्रदेश के उन शूरवीरों को नमन किया जिन्होंने अपने अदम्य साहस व वीरता से वर्ष 1999 में कारगिल की दुर्गम पहाड़ियों से दुश्मन को खदेड़ तिरंगा लहराया। उन्होंने कहा कि मातृभूमि की रक्षा के लिए समर्पित भारत के वीरों पर देश को गर्व है। 

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में शौर्य, साहस एवं त्याग की समृद्ध परम्परा रही है जिससे प्रदेश को वीर भूमि का दर्जा प्राप्त है। हिमाचल प्रदेश के रणबांकुरों ने साहस और बलिदान की परम्परा को बनाए रखा है और भारतीय सेना में सेवा करते हुए प्रदेश का गौरव बढ़ाया है। देश के पहले परमवीर चक्र विजेता मेजर सोम नाथ शर्मा हिमाचल प्रदेश से संबंध रखते थे। कारगिल युद्ध में शहादत पाने वाले देश के 527 वीर जवानों में से 52 शहीद हिमाचल से थे और चार में से दो परमवीर चक्र भी हिमाचल को मिले।

डॉ. सैजल ने हिमाचल प्रदेश के छोटे से कस्बे पालमपुर के 13 जम्मू-कश्मीर राइफल्स के कैप्टन विक्रम बत्रा का ज़िक्र करते हुए कहा कि वे उन बहादुरों में से एक थे, जिन्होंने एक के बाद एक कई सामरिक महत्व की चोटियों पर भीषण लड़ाई के बाद फतह हासिल की थी।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा अपने जांबाज सैनिकों के मान सम्मान में कोई कमी नहीं रखी है और पूर्व सैनिकों के कल्याण के लिए अनेक योजनाएं क्रियान्वित की जा रही है। उन्होंने कहा कि पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय भारत सरकार द्वारा कारगिल युद्ध के साथ-साथ विभिन्न सैन्य ऑपरेशनों में शहीद हुए सैनिकों के आश्रितों के लिए विशेष योजना के तहत पेट्रोल पंप व गैस एजेंसी दिए जाने का प्रावधान भी किया गया है।

इससे पूर्व, डॉ. सैजल ने शहीदी स्मारक पर श्रद्धा सुमन अर्पित की और कारगिल विजय दिवस की नागरिकों को प्रतिज्ञा भी दिलवाई।

इस अवसर पर प्रदेश भाजपा प्रभारी अविनाश राय खन्ना ने कहा कि कोई भी युद्ध केवल हथियारों के बल पर नहीं लड़ा जाता है। युद्ध लड़े जाते हैं साहस, बलिदान, राष्ट्रभक्ति व कर्तव्य की भावना से और हमारे देश व प्रदेश में ऐसे जज्बों से भरे युवाओं की कोई कमी नहीं है। उन्होंने कारगिल विजय दिवस की 23 वीं वर्षगांठ पर मां भारती के सभी वीर सपूतों को नमन किया। उन्होंने कहा कि यह दिवस हमें अपने सैनिकों के साहस, शौर्य और समर्पण की याद दिलाता है और हमेशा दिलाता रहेगा।

इस अवसर पर विधायक दून परमजीत सिंह पम्मी ने सैनिक सामुदायिक केंद्र के लिए तीन लाख रुपए देने की घोषणा की। कार्यक्रम में शहीद हुए सैनिकों के परिवार के सदस्यों और सेवानिवृत्त हुए सैनिकों को सम्मानित भी किया गया। कार्यक्रम के दौरान विवेक पब्लिक स्कूल नालागढ़ के बच्चों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किया गया। इस अवसर पर अध्यक्ष पूर्व सैनिक लीग बीबीएनडीए शिव लाल वर्मा ने मांग पत्र प्रस्तुत किया। सेना से सेवानिवृत्त रामलाल ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया।

इस अवसर पर विधायक दून परमजीत सिंह पम्मी, जल प्रबंधन बोर्ड के उपाध्यक्ष दर्शन सिंह सैनी, पूर्व विधायक के.एल. ठाकुर, नगर परिषद अध्यक्षा नालागढ़ रीना शर्मा, भाजपा ज़िला अध्यक्ष आशुतोष वैद्य, भाजपा मण्डल अध्यक्ष दून विधानसभा बलवीर ठाकुर, भाजपा मण्डलाध्यक्ष नालागढ़ बलदेव ठाकुर, उपायुक्त सोलन कृतिका कुलहरी, उपमण्डलाधिकारी नालागढ़ महेन्द्र पाल गुर्जर, ज़िला सैनिक बोर्ड के उपनिदेशक कर्नल एस.के. अग्निहोत्री, अध्यक्ष पूर्व सैनिक लीग बीबीएनडीए शिव लाल वर्मा, पूर्व सैनिक सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति भी  उपस्थित थे।