Movie prime
मिंजर मेले में इस बार दो पंजाबी , दो चम्बयाली , दो हिमाचली, दो बॉलीवुड स्टार संध्याओं का होगा आयोजन
मिंजर मेले में इस बार दो पंजाबी , दो चम्बयाली , दो हिमाचली, दो बॉलीवुड स्टार संध्याओं का होगा आयोजन
 
डलहौज़ी हलचल (चंबा) : ज़िला के ऐतिहासिक मिंजर मेला में सांस्कृतिक कार्यक्रम की रूपरेखा को लेकर अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी अमित मेहरा की अध्यक्षता में कार्यालय के सभागार में मिंजर सांस्कृतिक कार्यक्रम उप समिति की बैठक का आयोजन किया गया । बैठक में उप समिति के सरकारी और गैर सरकारी सदस्यों ने हिस्सा लिया । विभिन्न विषयों पर चर्चा के दौरान अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी अमित मेहरा ने कहा कि  सांस्कृतिक कार्यक्रमों के तहत 2 चम्बयाली, 2 दिन हिमाचली ,2 दिन पंजाबी और 2 दिन बॉलीवुड  स्टार संध्याएं आयोजित की जाएं । सांस्कृतिक कार्यक्रमों में   चम्बयाली  व हिमाचली कलाकारों को विशेष अधिमान दिए जाने और हिमाचल प्रदेश पुलिस बैंड हार्मनी ऑफ पाइन को आमंत्रित करने का निर्णय भी लिया गया। बैठक में मिंजर के दौरान अंतर्राष्ट्रीय नाट्य दल को भी बुलाने को लेकर चर्चा भी की गई

बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि मिंजर मेले के दौरान लेजर लाइट शो भी करवाया जाएगा जिसमें चंबा के इतिहास और ऐतिहासिक स्थलों को प्रदर्शित किया जाएगा। बैठक में साउंड और लाइट सिस्टम के बारे में चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि साउंड और लाइट सिस्टम के लिए आवश्यकता अनुसार स्पेसिफिकेशन बनाई जाए और उसके के तहत ही निविदाएं आमंत्रित की जाएंगी। इसके अतिरिक्त बैठक में गत वर्ष कोरोना काल की वजह से रस्मी तौर पर आयोजित मिंजर मेले में जिन कलाकारों द्वारा निःशुलक प्रस्तुतियां दी गई उनको प्राथमिकता देने के बारे में भी चर्चा की गई। अमित मेहरा ने यह भी कहा कि इसके साथ चौगान नंबर दो में सरस मेले का आयोजन किया जाएगा । जिसमें चंबा के स्थानीय कलाकारों को प्राथमिकता दी जाएगी।

उन्होंने यह भी कहा कि मिंजर मेले की पारंपरिक गायन कुंजडी मल्हार को भी पर्याप्त समय दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि मिंजर मेले की थीम का हिस्सा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के तहत चंबा के लोक नाट्य दलों द्वारा सांस्कृतिक नृत्य भी आयोजित किए जाएगे।

बैठक में उप समिति के सरकारी सदस्य सहायक आयुक्त मनीष चौधरी, जिला लोक संपर्क अधिकारी खेम चौहान और गैर सरकारी सदस्य    नगर परिषद पार्षद तीर्थ व सीमाहामिद खान, विनायक रैना , सतनाम सिंह , महाराजा कृष्ण बडियाल  ,डाॅ कमलेश शेखरी मौजूद रहे।