Movie prime
राष्ट्रीय खेल दिवस पर क्रिकेट महाकुंभ की विजेता व उपविजेता टीमें सम्मानित
राष्ट्रीय खेल दिवस पर क्रिकेट महाकुंभ की विजेता व उपविजेता टीमें सम्मानित
 
डलहौज़ी हलचल (चंबा)  : राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर जिला क्रिकेट संघ चंबा की ओर से पुलिस ग्राउंड बारगाह सहित भंजराड़ू, सुरंगानी तथा होली में आयोजित क्रिकेट महाकुंभ की विजेता तथा उपविजेता टीमों को सम्मानित करने के लिए सोमवार को सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। समारोह वन विभाग के बारगाह स्थित विश्राम गृह में हुआ। इसमें डीएफओ चंबा अमित शर्मा ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की।

इस दौरान मुख्यातिथि ने विजेता सरोल टीम तथा उपविजेता गली वारियर्स को ट्राफी व नकद पुरस्कार भेंट कर सम्मानित किया। महाकुंभ के फाइनल मुकाबले में शानदार प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी देवेश गुलाटी को मैन आफ द मैच चुना गया। इसके अलावा बेस्ट परफार्मेंस इन ए मैच अभिषेक ठाकुर तथा मैन आफ द सीरीज रोहित नारंग को चुना गया। इस दौरान मुख्यातिथि अमित शर्मा ने विजेता तथा उपविजेता टीमें कों शुभकामनाएं देते हुए भविष्य में और बेहतर प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित किया। वहीं, जिला क्रिकेट संघ चंबा के संयोजक मनुज शर्मा, महाकुंभ के चेयरमैन हरमीत भटियानी, अमित कुमार, विनोद कुमार, हमीद खान, गौरव बक्शी, किशन कुमार, याकूब, हितेशवर, देवेंद्र दियोड़, सुनील कुमार, मिथुन ठाकुर तथा इमरान ने भी टीमों को बधाई व शुभकामनाएं दीं।

जिला क्रिकेट संघ चंबा के संयोजक मनुज शर्मा ने कहा कि भारत में राष्ट्रीय खेल दिवस 29 अगस्त को महान हॉकी खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद की जयंती पर मनाया जाता है। उन्होंने 1926 से 1949 तक अपने करियर में करीब 570 गोल किए। इसके बाद उन्होंने कहा कि क्रिकेट महाकुंभ का मुख्य उद्देश्य जिला में क्रिकेट प्रतिभाओं की तलाश करना रहा। महाकुंभ के तहत जिलाभर में क्रिकेट प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। इसमें करीब डेढ़ सौ टीमों के खिलाड़ियों ने अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया। उन्होंने कहा कि प्रदेशभर में खिलाड़ियों की प्रतिभा को निखारने के लिए एचपीसीए की ओर से सब-सेंटर भी चलाए जा रहे हैं। इसमें स्थानीय खिलाड़ी अपनी प्रतिभा को निखार रहे हैं।

जिला क्रिकेट संघ की ओर से भी खिलाड़ियों को बेहतर मंच प्रदान करने के लिए हरसंभव प्रयास जारी हैं। इसी के तहत क्रिकेट महाकुंभ का आयोजन किया गया। उन्होंने खिलाड़ियों से आह्वान करते हुए कहा कि अपनी प्रतिभा को निखारने के लिए और कड़ी मेहनत करें, ताकि इसका लाभ भविष्य में मिल सके।